छत्रपति शिवाजी महाराज CHHATRAPATI SHIVAJI MAHARAJ

jay shivray

ENGLISH

Chhatrapati Shivaji Maharaj or Shivaji Raje Bhosle (1630 - 1680) was a great warrior and strategist of India who laid the foundations of the Maratha empire in western India in 1674 . He fought for years Aurangzeb 's Mughal Empire . In 1674 Raigarh His coronation took place and made Chhatrapati. Shivaji provided a qualified and progressive administration with the help of his disciplined army and well-organized administrative units. He military tactics made many innovations and guerrilla warfare new style (of (Gorilla War) Shivsutr ) Developed. They revived the ancient Hindu practices and courtesies and made Marathi and Sanskrit the language of the Persian language instead of Persian .



In the freedom struggle of India, many people inspired Shivaji's lifecycle and left his body, mind and body for freedom of India .



HINDI

छत्रपति शिवाजी महाराज या शिवाजी राजे भोसले (१६३० - १६८०) भारत के महान योद्धा एवं रणनीतिकार थे जिन्होंने १६७४ में पश्चिम भारत में मराठा साम्राज्य की नींव रखी। उन्होंने कई वर्ष औरंगज़ेब के मुगल साम्राज्य से संघर्ष किया। सन १६७४ में रायगढ़ में उनका राज्याभिषेक हुआ और छत्रपति बने। शिवाजी ने अपनी अनुशासित सेना एवं सुसंगठित प्रशासनिक इकाइयों की सहायता से एक योग्य एवं प्रगतिशील प्रशासन प्रदान किया। उन्होंने समर-विद्या में अनेक नवाचार किये तथा छापामार युद्ध (Gorilla War) की नयी शैली (शिवसूत्र) विकसित की। उन्होंने प्राचीन हिन्दू राजनीतिक प्रथाओं तथा दरबारी शिष्टाचारों को पुनर्जीवित किया और फारसी के स्थान पर मराठी एवं संस्कृत को राजकाज की भाषा बनाया।

भारत के स्वतन्त्रता संग्राम में बहुत से लोगों ने शिवाजी के जीवनचरित से प्रेरणा लेकर भारत की स्वतन्त्रता के लिये अपना तन, मन धन न्यौछावर कर दिया।

Comments